Leaderboard Ad

बदलते रहे हाकिम, दीवान ने नहीं दिया चार्ज

0

देवरिया

लार थाने में सैकड़ों वाहन सड़ रहे

नीलामी से हो सकता है पुलिस महकमे को राजस्व लाभ

लार। एक नहीं एक दर्जन हाकिम बदल गए। किसी ने ध्यान नहीं दिया कि थाना परिसर लावारिस वाहनों से अटा पड़ा है। अफसर बदले, दीवान बदला लेकिन स्थिति ज्यों की त्यों है। इसका कारण यह है कि मौजूदा दीवान को सम्पूर्ण चार्ज ही नहीं मिला। जबसे पूर्व दीवान छोटेलाल का तबादला लार से देवरिया हुआ उसके लगभग दर्जनभर थानाध्यक्ष बदले। किसी ने इस तरफ ध्यान नहीं दिया। थाने परिसर में लाखों के वाहन सड़ रहे हैं। इनमें से ज्यादातर वाहन लावारिस हैं। मुकदमों से सम्बंधित लावारिस वाहनों को पुलिस चाहती तो डिस्पोज करके अपना परिसर साफ़ सुथरा बना सकती। यही हाल अवैध शराब का है। लार में पूर्व थानाध्यक्ष श्रवण यादव के कार्यकाल में भारी मात्रा में शराब पकड़ा गया। उसके बाद के थानाध्यक्षों ने भी समय समय पर शराब पकड़े। हकीकत यह है कि बरामद की जा रही शराबों को रखने के लिए अब जगह नहीं बची। मालखाना भर जाने के स्थिति यह है कि अब आवासीय कमरों में अवैध शराब रखे जा रहे हैं।
पुलिस विभाग को चाहिए कि लावारिस वाहन और अवैध शराब के मुकदमों में प्रभावी पैरवी करके उन्हें मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में नष्ट या नीलाम कराकर थाना के मालखाना व परिसर को साफ़ सुथरा बनाया जा सके।

Spread the love
Share.

Leave A Reply