Leaderboard Ad

कस्बे में आवारा पशुओ की भरमार,राहगीर व नगरवासी परेसान

0

फतेहपुर खागा
आज कल नगर में आवारा पशुओं की बाढ़ सी आ गई है रात दिन जिधर देख़ो उधर ही दो चार जानवर टहलते हुए नजर आ रहे है।सरकार द्वारा गांव गांव में गोशाला का निर्माण करवाया गया फिर भी गोवंश रास्तो में भटक रहे है।कुछ गाए तो कस्बे के लोगो की है जो दूध निकालने के बाद छोड़ देते है।और कुछ सांड है जो राहगीरों को मरते है।ये जानवर बाजार में चौक में यहाँ तक कि नगर के भीतरी रास्तो में भी मिल जाते है जिनसे लोग परेसान है।ये जानवर दिन में भी चौक में आ कर खड़े हो जाते है जिससे लोगो को आने जाने व गाड़िया निकालने में परेशानी होती है।यही जानवर बाजार में सब्जी की दुकानों में मुह मरते फिरते रहते है जिनको देखने वाला कोई नही है। लोगो की साइकिल मोटरसाइकिल में टंगे झोले में रखे समान को भी नही छोड़ते।जिला प्रशासन इन अवारा पशुओं की तरफ कोई ध्यान नही दे रहा,तो क्या फायदा है गावो में लाखों रुपए खर्च करके गोशाला बनवाने का।जब जानवरो को छुट्टा ही घूमना है,और सड़क किनारे पड़े कचरे से अपना पेट भरना है तो इन गोशालाओं में लाखों रूपऐ सरकार के क्यो बर्वाद किये जा रहे है।इन जानवरों को इन्ही गोशालाओं में रख कर इनके चारे दाने की व्यवस्था की जिम्मेदारी जिला प्रशासन की है।अब देखना यह है कि इन जानवरों की सही जगह कब तक मिलती है।

Crime 24 hours/स्थानीय संवाददाता विनोद कुमार वर्मा

Spread the love
Share.

About Author

Leave A Reply