Leaderboard Ad

केंद्र की आपत्ति के बाद राज्य सरकार ने कानपुर व आगरा मेट्रो रेल परियोजना की लागत घटाई

0

राज्य सरकार ने केंद्र की आपत्ति के बाद कानपुर और आगरा मेट्रो रेल परियोजना की लागत कम कर दी है। केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय के सुझाव पर राज्य सरकार ने संशोधित प्रस्ताव भेज दिया है। केंद्र की मंजूरी के बाद कानपुर व आगरा में मेट्रो रेल परियोजना शुरू करने का रास्ता साफ होगा।

कानपुर और आगरा में मेट्रो रेल परियोजना शुरू करने के लिए राज्य सरकार ने कैबिनेट से प्रस्ताव पास करते हुए केंद्र को भेजा था। केंद्र सरकार ने यह कहते हुए प्रस्ताव वापस कर दिया कि अहमदाबाद, भोपाल और इंदौर में इससे कम लागत में मेट्रो रेल परियोजना का प्रस्ताव आया था। इसलिए इन तीनों शहरों के पैटर्न पर प्रस्ताव बनाते हुए भेजा जाए। आवास एवं शहरी नियोजन विभाग ने इसके आधार पर कानपुर और आगरा में मेट्रो रेल परियोजना शुरू करने के लिए संशोधित प्रस्ताव नए सिरे से तैयार कराते हुए भेजा है।

कानपुर की 7235 करोड़ घटी लागत
आवास विभाग ने कानपुर में मेट्रो रेल परियोजना के लिए तैयार डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) में लागत कम कर दी गई है। कानपुर में मेट्रो रेल परियोजना के लिए पहले 18,143 करोड़ रुपये का प्रस्ताव तैयार करते हुए भेजा गया था। अब इसे 10,908 करोड़ रुपये कर दिया गया है। कानपुर में कुल 32.385 किमी मेट्रो रेल चलेगी। इसमें दो कारिडोर बनाए जाएंगे।

आगरा की लागत भी 5519 करोड़ घटी
आगरा में 13,781 करोड़ रुपये की लागत से मेट्रो रेल परियोजना शुरू की जानी थी। आगरा में 30 किमी के दायरे में मेट्रो रेल चलाई जानी है। इसमें दो कारिडोर होंगे। केंद्र सरकार से प्रस्ताव लौटाए जाने के बाद अब इसे 8262 करोड़ रुपये का प्रस्ताव कर दिया गया है। राज्य सरकार ने केंद्र को प्रस्ताव भेजते हुए इसे जल्द मंजूरी देने का अनुरोध किया है, जिससे इन दोनों शहरों में मेट्रो रेल परियोजना शुरू की जा सके। यूपी के यह दोनों शहर काफी महत्वपूर्ण हैं। कानपुर औद्योगिक नगरी है और आगरा पर्यटन की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण माना जाता है।

Spread the love
Share.

About Author

Leave A Reply